Saturday, 24 June 2017

दिल ने अदा कर दिया



इस दिल ने अदा कर दिया हक होने का अपने, 
नफ़रत भी बहुत की है मोहब्बत भी बहुत की।

No comments:
Write comments